बेचें या hold करें Paradeep Phosphates Share price update

बेचें या hold करें Paradeep Phosphates Share price update Paradeep Phosphates की बाजार में एंट्री, 5 फीसदी प्रीमियम पर लिस्‍ट हुआ स्‍टॉक

Paradeep Phosphates के शेयर NSE पर 5% प्रीमियम के साथ 44 रुपए पर लिस्ट हुए

Paradeep Phosphates Shares today

कंपनी का इश्यू 1.75 गुना सब्सक्राइब हुआ था और इसका इश्यू प्राइस 42 रुपए था। सरकार ने इस इश्यू के जरिए अपनी पूरी हिस्सेदारी बेच दी है

Paradeep Phosphates IPO Listing: पारादीप फॉस्फेट्स का IPO आज बाजार में लिस्‍ट हो गया. BSE पर यह स्‍टॉक 43.55 रुपये पर लिस्‍ट हुआ.

 जोकि इश्‍यू प्राइस से 3.69 फीसदी प्र‍ीमियम है. वहीं, NSE पर शेयर 44 रुपये पर लिस्‍ट हुआ है, जोकि अपर प्राइस बैंड से 2 रुपये या 4.76 फीसदी ज्‍यादा है. इस निवेशकों को इस आईपीओ में करीब 5 फीसदी का लिस्टिंग गेन हुआ है.

फर्टिलाइजर कंपनी का आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 39-42 रुपये प्रति शेयर था. ज़ी बिजनेस के मैनेजिंग एडिटर अनिल सिंघवी ने बताया है कि निवेशकों को इस शेयर पर लंबी अवधि के लिए पैसा लगाने की सलाह दी है. 

Paradeep Phosphates Shares live update

देश की नॉन-यूरिया फर्टिलाइजर बनाने वाली दूसरी सबसे बड़ी कंपनी का पब्लिक ऑफर सब्सक्रिप्‍शन के लिए 3 दिन तक खुला था. इश्‍यू 19 मई 2022 को बंद हुआ था.

IPO के आखिरी दिन पारादीप फॉस्‍फेट का आईपीओ 1.75 गुना सब्‍सक्राइब हुआ था. इसमें रिटेल कैटेगरी में इश्‍यू 1.37 गुना सब्‍सक्राइब हुआ था.

वहीं, फीसदी हिस्‍सा रिजर्व था. HNIs कोटा 0.82 फीसदी और QIBs हिस्‍सा 3.01 फीसदी भरा था. 

Paradeep Phosphates आईपीओ में फ्रेश इश्‍यू

आईपीओ में फ्रेश इश्‍यू के जरिए जुटाई की रकम का इस्‍तेमाल कंपनी गोवा में फर्टिलाइजर मैन्‍युफैक्‍चरिंग प्‍लांट खरीदने, कर्ज चुकाने और अन्‍य कारोबारी कामकाज के लिए करेगी. 

बता दें कि रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध की वजह से अप्रत्यक्ष तौर पर इन फर्टिलाइजर कंपनियों को फायदा मिल सकता है. रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण फर्टिलाइजर के निर्यात पर असर पड़ा है.

स्‍वास्तिका इन्‍वेस्‍टमार्ट लिमिटेड के रिसर्च हेड संतोष मीणा का कहना है कि पारादीप फॉस्‍फेट्स की 44 रुपये यानी इश्‍यू प्राइस से 5 फीसदी बढ़कर लिस्टिंग हुई है.

सुस्‍त लिस्टिंग की वजह बाजार का मौजूदा सेंटीमेंट और निवेशकों का नरम रिस्‍पांस कहा जा सकता है. यह नॉन-यूरिया फर्टिलाइजर की एक बड़ी कंपनी है.

हालांकि, यह काफी रेग्‍युलेटेड इंडस्‍ट्री है. एग्रीकल्‍चर सेक्‍टर पर इसकी बहुत ज्‍यादा निर्भरता है. मौसम के हालात का कंपनी के बिजनेस पर सीधा असर होता है और यह साइक्लिक है.

लिस्टिंग के बाद इस स्‍टॉक में निवेशक लॉन्‍ग टर्म के नजरिए से बने रह सकते हैं. वहीं, जिन्‍होंने लिस्टिंग गेन के लिए अप्‍लाई किया था, वे 40 रुपये का स्‍टॉप लॉस मेन्‍टेन कर सकते हैं. 

Leave a Comment